Home > Videos > Paediatrics >  Premature बच्चे होने के कारण?

Premature बच्चे होने के कारण?

भारत में लगभग 14 % बच्चे Preterm पैदा होते है। भारत में कम से कम एक साल में लगभग 27 million बच्चे पैदा होते है उसमे से 3.5 – 4 million बच्चे Preterm पैदा होते है|

Preterm baby क्या है?

जो बच्चा 40 हफ्ते माँ के पेट में पूरे नहीं करता। यानेके जो बच्चा 37 weeks से पहले पैदा होता है उनको Premature baby कहा जाता है। Premature बच्चे जल्दी पैदा होनेसे उनका वजन भी कम है। इन बच्चो का वजन 2.5 kg से कम होता है और ऐसे बच्चो को NICU की care लगती है।

बच्चे Premature या Preterm क्यों पैदा होते है ?

जिस माँ का nutrition कम है जिस माँ का Weight और height प्रेगनेंसी के पहले कम है। जो माँ को infections होने के सम्भावनाये ज्यादा है ये सामान्य problems है जिसके वजहसे Preterm या Premature बच्चे पैदा होते है।

जो बच्चे 32 -37 weeks पर पैदा होते है वो 80 % बच्चे preterm होते है। जो 32 weeks से पहले पैदा होते है उनको ज्यादा तकलीफ होती है। उनका weight 1.5 kg से कम रहता है। उनको NICU care की ज्यादा जरुरत होती है। जिस बच्चे का weight 1kg से कम होता है उनको extreme low birth rate कहते है उनको NICU की बोहोत जरुरत होती है।

Premature बच्चो को क्या problem होती है?

जो बच्चे 1.8 – 2.5 kg है उनको feeding के problems , sugar level कम होना , jaundice होना , दूध अच्छी तरह से नहीं लेना ये तकलीफे आती है। ऐसे बच्चे 5-7 दिन में एडजस्ट हो जाते है।

पर जिस बच्चे का weight 1.8 से कम है उनको NICU में ज्यादा दिन लगते है।

बच्चे का वजन कम हो तो क्या होता है?

जो बच्चे 1.5 kg से कम होते है उनको ज्यादा तकलीफ होती है और उनको NICU care की ज्यादा जरुरत होती है। इन बच्चो में , temperature कम होना , sugar level कम होना, blood pressure कम होना, बच्चे का सास लेने में तकलीफ होना , बच्चे के brain में bleeding होना , बच्चे को दूध हजम न होना ऐसे problems दिखाई देते है।

Premature बच्चो का survival rate क्या है?

अच्छे NICU care में ये chances ज्यादा है।

  • जो बच्चे 1.8 – 2.5 kg है 99% ये बच्चे survive होते है।
  • जो बच्चे 1.5 – 1.8 kg है उनके survival chances 90-95 % होते है।
  • जो बच्चे 1- 1.5 kg है उनके survival chances 85-90 % होते है।
  • जो बच्चे 750 g -1 kg उनके survival chances 60-70 % होते है।

जितना weight ज्यादा उतना survival chances ज्यादा होते है।

Premature बच्चो का survival rate कम कैसे हो सकता है?

  • बच्चे को सास लेने में तकलीफ होना मतलब बच्चे के lung mature न होना।
  • बच्चे के brain में bleeding होना , बच्चे को दूध हज़म न होना और बच्चे को infection होना।

Premature बच्चो के survival chances कैसे बढ़ा सकते है?

  • अगर बच्चा premature पैदा होने वाला है , तो डिलीवरी उसी हस्पताल में कीजिये जिसमे NICU हो।
  • जिन माँ की Premature होने वाली हो तो माँ को MgSO4 और steroids दिए जाते है क्युकी उससे बच्चे के survival रेट बढ़ जाते है।

Premature बच्चे की देखभाल कैसे करना?

premature बच्चो की पहले दिन बोहोत देखभाल करनी पड़ती है। कुछ procedures या दवाइया दी जाती है जिससे outcomes अच्छे होते है। इसलिए यह महत्वपूर्ण है की अच्छा NICU और अच्छी NICU team हो जो इस चीज़ की पूरी Care ले।

माँ Premature बच्चो का ध्यान कैसे रखे?

  • माँ को ध्यान रखना है की वह अपने हाथ हमेशा साफ़ रखे।
  • KMC (Kangaroo mother care) treatment जिसमे माँ बच्चे को अपने पास लेती है।
  • Premature बच्चे के लिए २ साल तक Precautions लेने होते है।
  • बच्चे की Brain , कान , आँखों की जांच बोहोत महत्वपूर्ण होते है।
  • बच्चे की growth और development , बच्चे को दिए गए वैक्सीन्स ये माँ को समझ लेना चाहिए।

About Author

    Appointment Form




    For a quick response to all your queries, do call us.

    Patient Feedback

    Expert Doctors

    Emergency/Ambulance
    +91-88888 22222
    Emergency/Ambulance
    +91-88062 52525
    Call Now

    Generic selectors
    Exact matches only
    Search in title
    Search in content
    page
    post