Home > Blogs > Oncology > Role of Radiation in Gynecological Cancer

Role of Radiation in Gynecological Cancer

Gynaecological cancers में cervical cancer जिसको गर्भकोष कैंसर कहा जाता है यह स्तन कैंसर (breast cancer ) के बाद सर्वाइकल कैंसर दूसरा सबसे आम कैंसर है। तो जानते cervical cancer के कारण क्या है और उसपे इलाज कैसे किया जा सकता है

Cervical cancer के कारण

  • Human Papilloma Virus (HPV)

सबसे आम कारण होता है Human Papiloma Virus (HPV ) जिसका infection होता है महिलाओ में जब वह 20-30 साल की होती है और उसको कैंसर में होने के लिए और ज्यादा 20 साल लग जाते है। Post menpose यह कैंसर महिलाओ में बोहोत common है।

  • Low Socioeconomic / Hygiene status

जिनका Socioeconomic बोहोत कम है और जहा वो लोग रहते है वह hygiene ठीक नहीं रहता उन महिलाओ में ये कैंसर पाया जाता है।

Prevention of cervical cancer

Cervical cancer को रोकने के लिए दो vaccines उपलब्ध है। जिनके नाम है –

  • Cervarix
  • Gardasil

ये दोनों vaccines महिलाओ को 9 -25 साल तक दे सकते है और vaccine तीन doses में दिया जाता है। यह vaccine Human Papiloma Virus (HPV ) से बचाव करता है।

Management of Cervical cancer

Cervical cancer का management stage के ऊपर निर्भर करता है।

Stage 1 :जिसको early stage कहा जाता है जिसमे Hysterectomy surgery की जा सकती है।

Stage 2 – Stage 4 : इन stages में patients को radiation और chemotherapy दी जाती है जिससे ये cure हो सकता है।

Cervical cancers का cure rate 80%- 90% होता है। इसमें radiation काफी महत्वपूर्ण होता है। Patients को radiations 25 दिनों केलिए दिया जाता है और हफ्ते में एक बार low dose chemotheray दी जाती है जिसमें Cisplatin drug का इस्तमाल किया जाता है जिसके कोई side effect नहीं होता। Radiation और chemotherapy 5 हफ्ते दी जाती है।

Have queries or concern ?

    Radiation Techniques

    Radiation Techniques के बोहोत सारे techniques है और उन techniques के हिसाब पे complication rate decide होता है।

    Radiation में 3D CRT , IMRT , IGRT , VMAT , True beam जैसे तकनीक का इस्तमाल किया जाता है और जितने अच्छी तकनीक उतने कम complication होते है।

    सबसे common complication होता है cystisis याने urine पास होते वक्त जलन महसूस होती है और proctritis जिसमे motion के वक्त जलन होता है।

    एक बार radiation therapy ख़तम होने के बाद Brachy Therapy की जाती है। Radiations दो तरीके के होते है एक xray और दूसरे, गर्भकोष के अंदर needle और doses देते है।

    About Author

    dr-supriya-puranik

    Dr. Sanjay Hunugundmath

    Consultant Radiation Oncology
    Contact: +91 88888 22222
    Email – ask@sahyadrihospitals.com

      Appointment Form




      For a quick response to all your queries, do call us.

      Patient Feedback

      Expert Doctors

      Generic selectors
      Exact matches only
      Search in title
      Search in content
      Post Type Selectors
      page
      post
      Emergency/Ambulance
      +91-88888 22222
      Emergency/Ambulance
      +91-88062 52525
      Call Now: 88888 22222