Home > Videos > Oncology > तंबाखू व बीड़ी-सिगरेट पीने से मुँह का कैंसर कैसे होता है?

तंबाखू व बीड़ी-सिगरेट पीने से मुँह का कैंसर कैसे होता है?

Global Cancer Observatory (GCO) 2020 डाटा सर्वे के अनुसार भारत में सबसे ज्यादा मात्रा में पाया जाने वाला कैंसर है वह ब्रैस्ट कैंसर है और दूसरे पायदान पे आता है मुँह का कैंसर (cancer of oral cavity ). Oral cavity में मरीजके होटो के साथ साथ मुँह के अंदर के अवयव भी आ जाते है।

भारत में होटो में और मुँह में पाए जाने वाले कैंसर की मात्रा पुरुषोंमें बोहोत ज्यादा है। मुँह के कैंसर में मृत्युदर तीसरे पायदान पे आता है। तंबाखू काफी सारे कैंसर को जन्म देता है जैसे की अन्ननलिका का कैंसर , पेट का कैंसर , urinary bladder का कैंसर , मुँह का कैंसर। तो जानते है मुँह का कैंसर किस कारण होता है ?

मुँह के कैंसर के कारण

तंबाखू का सेवन : अगर तंबाखु का किसी भी रूप से सेवन होता हो , तो उसे मुँह का कैंसर होने की संभावना रहती है या खतरा रहता है। मुँह का कैंसर तंबाखू सेवन या smoking से होता है।

मुंह के कैंसर के शुरुआती लक्षण

  • Redness : Erythema, मुँह के अंदर का हिस्सा सामान्य तौर पे गुलाबी रंग का होता है जब यह गुलाबी रंग का हिस्सा लाल हो जाता है तो वह बदलाव दर्शाता है जो tobacco या तंबाखू पिने या smoking से होता है।
  • Irregular lesions in the mouth : मुँह किसी एकतरफ अनियमित अलसर होना।
  • Induration : यनेके कठोरता , नियमित धूम्रपान के कारण अपने मुँह के अंदर कठोरता निर्माण होती है।
  • Swelling : गले या गर्दन में सूजन हो जाती है।
  • Speckling appearance : जब मुँह में लाल और सफ़ेद छाले पड़ जाते है तब वह मुँह के कैंसर का लक्षण हो सकता है।
  • Painless patch : कोई patch हो जो काफी लम्बे अरसे से मुँह में है पर दर्द नहीं करता है।

तो ऐसे सारे लक्षण आपको दिखाई दिए तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लेना बोहोत आवश्यक है।

जब हम कभी भी मुँह के कैंसर के बारेमें बात करते है तब हमे यह जानना बोहोत ही जरुरी होता है की इसकी हम रोकथाम कर सकते है। मुँह के कैंसर में आपको लक्षण दीखते है जो इसके संकेत दे रहे होते है। लेकि न इन चेतावनियों को मरीज नजरअंदाज करे तो अंत में उसका रूपांतर कैंसर में हो सकता है।

Mouth Cancer Reasons

सिर्फ धूम्रपान करना ही एक मात्रा मुँह के कैंसर की वजह नहीं है इसके अलावा जिसके कारण मुँह का कैंसर हो सकता है , वो है stress या तनाव। वैसे देखा जाए तो तनाव का मुँह के कैंसर से सीधा संबंध नहीं है। लेकिन stress की वजह से मुँह में बदलने वाले जो ulcerative leasions होते है या दूसरे किसम के leasions होने का खतरा होता है जिसके रूपांतर कैंसर में हो सकता है।

कोई भी कैंसर एकदम से नहीं होता , वह दिन ब दिन धीरे धीरे phases में पढता है और उसके लक्षण दिखा रहा होता है। जो शुरुवाती कैंसर के phases होते है उसे Precancerous phase कहा जाता है। Precancerous phase: leukoplakia और erythroplakia |

Leukoplakia में जीभ पे सफ़ेद पैच पड़े होते है।

Erythroplakia में जीभ पे लाल पैच पड़ते है और इसमें कैंसर में रूपांतर होने की संभावनाएं ज्यादा रहती है।

तो मुँह में कभी भी सफ़ेद या लाल पैच दिखे डॉक्टर की सलाह लेना ना भूलिए।

About Author

dr stock

Dr. Shirnivas Kulkarni

Consultant Medical Oncology
Contact: 8806252525
Email – ask@sahyadrihospitals.com

    Appointment Form




    For a quick response to all your queries, do call us.

    Patient Feedback

    Expert Doctors

    Emergency/Ambulance
    +91-88888 22222
    Emergency/Ambulance
    +91-88062 52525
    Call Now

    Generic selectors
    Exact matches only
    Search in title
    Search in content
    page
    post