Home > Videos > Urology and Nephrology > Lithotripsy क्या है और कैसे की जाती है?

Lithotripsy क्या है और कैसे की जाती है?

Lithotripsy को medical भाषा में ESWL (extracorporeal shock wave lithotripsy) कहते है। Lithotripsy इस शब्द का मतलब है पथ्थर को तोडना। जो ESWL Lithotripsy treatment होती है यह Laser treatment नहीं है। Lithotripsy में sound द्वारा generate की गयी energy किडनी स्टोन को तोड़ने में इस्तमाल की जाती है।

लगभग ७० सालो से इसपे काफी research होता आ रहा है और अभी dornier delta lithotripter जिसमे काफी focused beams बनता है और स्टोन के टुकड़े करने में मदत करता है।

अगर किडनी स्टोन किडनी में स्तिथ है और स्टोन का कम्पोजीशन सॉफ्ट है मतलब उसमे कैल्शियम की मात्रा कम है या hardness कम है तो ऐसे में यह मरीज lithotripsy का अच्छा candidate हो सकता है लेकिन kidney stone की size 1.5 cm से कम होनी चाहिए। Lithotripsy होने के बाद डॉक्टर पेशेंट को पानी ज्यादा पिने केलिए कहते है इसके साथ ही साथ यूरिन ज्यादा बनानेकी दवाई देते है जिसके कारन यह kidney stone के टुकड़े पेशाब मेसे निकल जाते है। इस प्रक्रिया में patient को थोड़ा बोहोत दर्द महसूस हो सकता है लेकिन जैसे ही stone निकल जाता है वह pain ख़तम हो जाता है।

Lithotripsy के लिए पेशेंट योग्य है या नहीं यह जानने केलिए CT scan करना काफी महत्वपूर्ण होता है।

अगर kidney के tube के ऊपरी हिस्से में स्टोन स्थित है और किडनी को सूजन नहीं है तो भी lithotripsy treatment कर सकते है। जब स्टोन किडनी से लेकर ureter में होते है उस स्थिति में lithotripsy की treatment उपयुक्त नहीं होती है। Lithotripsy के treatment से पहले कुछ blod test किए जाते है।

Lithotripsy कौन ना करे?

  • गर्भवती महिलाएं
  • पेशेंट्स जिनको active urine infection है।
  • मरीज जो blood thinners लेते है।
  • Spine problems वाले पेशेंट्स

Lithotripsy treatment कैसे दी जाती है?

  • मरीज के जरुरी tests के बाद एक तारीख पेशेंट को दी जाती है इस procedure के लिए।
  • मरीज को खाली पेट आना होता है। इस treatment में anesthesia की जरुरत नहीं होती है लेकिन यह बच्चो में कर रहे हो तो उनको anesthesia दिया जाता है। काफी कम दर्द महसूस होता है।
  • मरीज को मशीन के ऊपर सुलाया जाता है और पानी से भरा baloon touch किया जाता है और इस कारन sound waves patient के शरीर तक पोहोच पाते है और इस प्रकार kidney स्टोन को तोड़ता है।
  • यह प्रोसीजर ३०-४० मिनट चलती है जिसके बाद डॉक्टर्स पेशेंट को painkillers या antibiotics देके पेशेंट को डिस्चार्ज कर दिया जाता है।
  • कुछ दिनों बाद sonography या xray करके यह progress monitor की जाती है।
  • Lithotripsy treatment कुछ लोगो में सफल नहीं हुई तो ज्यादा बार भी फिरसे करनी पड सकती है।

आखिर में अगर आपका Kidney stone lithotripsy treatment से निकल सकता है तो आप आपके डॉक्टर की सलाह से lithotripsy treatment ले सकते हो।

About Author

dr stock

Dr. Yogesh Kaje

Consultant Urology
Contact: 8806252525
Email – ask@sahyadrihospitals.com

    Appointment Form




    For a quick response to all your queries, do call us.

    Patient Feedback

    Expert Doctors

    Emergency/Ambulance
    +91-88888 22222
    Emergency/Ambulance
    +91-88062 52525
    Call Now

    Generic selectors
    Exact matches only
    Search in title
    Search in content
    page
    post