Home > Videos > Cardiology > Heart Problems in Covid Patients?

Heart Problems in Covid Patients?

पिछले साल से हम इस covid pandemic से झुंज रहे है। कई सारे मरीजोंको covid में heart की समस्याएं हो रही है। ८०% लोग जिनको कोविड होता है उनको mild से moderate , disease होता है और जो ५% प्रतिशत रहते है वो काफी गंभीर रूप से बीमार रहते है। बाकी जो १५% मरीज रहते है उनको severe बीमारी होती है। पर इन सबको covid से संबंधित heart disease होंगेहि ऐसा नहीं है। कोविड के कारण अस्पताल में भर्ती 25 प्रतिशत रोगी हृदय संबंधी समस्याओं से पीड़ित हो सकते हैं।

Risk factors

High Blood Pressure, Diabetes, High Cholesterol Level और Obese रोगियों में हृदय संबंधी समस्या अधिक होती है। कोविड के कारण होने वाली सूजन से छोटे Clots बन सकते हैं।

Heart Problems in Covid Patients

  • Myocarditis – हृदय की मांसपेशियों में सूजन।
  • Acute Heart Attack – दिल की नसों में Clots जमने के कारण होता है।
  • Venous Thromboembolism – पैरों के Clots फेफड़ों में चले जाते हैं और Pulmonary Embolism का कारण बनते हैं। इसके कारण अचानक से death भी हो सकती है।
  • Arrhythmia – अनियमित दिल की धड़कन।
  • Heart Failure – हृदय की पंपिंग कम हो जाती है और फेफड़ों में जमाव हो जाता है जिससे सांस फूलने लगती है और ऑक्सीजन का स्तर कम हो जाता है।

कुछ लोगो को Covid में दिए गए drugs के side effects के कारण Prolonged QT interval होता है। जिसके कारण Ventricular Arrhythmia होते है और यह कही बार घातक हो सकते है।

Heart attack due to Covid-19

कुछ लोग acute heart attack के लक्षण लेके आते है। ECG और ECO में भी इसके लक्षण दीखते है , अगर छोटा या uncomplicated heartattack है तो ऐसे पेशेंट्स को Fibrinolytic इंजेक्शन दिया जा सकता है। लेकिन गंभीर दिल के दौरे वाले मरीजोंको angioplasty की जरुरत पड़ सकती है।

Covid 19 and Heart disease

कई patients breathlessness की शिकायत लेके आते है और डॉक्टर्स देखते है की जो lungs में कंजेशन होता है जिसे pulmonary edema कहा जाता है , तो इसका मतलब यही है की patient हो heart failure है। ऐसे में डॉक्टर को यह ढूढ़ना मुश्किल हो जाता है की ये covid के कारण है या पेहलेसि कोई बीमारी है। एक समय डॉक्टर पहेलेके रिपोर्ट्स देखते है। लेकिन जिन लोगो को पहलेसेही हार्ट की शिकायत होती है उन्हें heart failure हो सकता है।

Covid 19 and Its impact on heart

Dysrhythmia का अर्थ है अनियमित दिल की धड़कन, वह कई प्रकार के हो सकते है। Ventricular Arrhythmia वाले रोगियों को दवाओं और झटके की आवश्यकता होती है।

कई बार ऐसा होता है पेशेंट ठीक होगया होता है। पर कभी कभी वह अचानक से collapse हो जाते है और sudden death हो जाती है। Pulmonary Embolism यह मुख्य कारण होता है इस तरह के मृत्यु का।

आज कल कई लोगोको Long Covid Syndrome होता है जिसमे में inflammatory markers लंबे समय लगभग एक से तीन महीने तक बने रहते हैं।ऐसे मरीजोंको और निगरानी की जरुरत होती है और उनका continuous oxygen monitoring करना बोहोत जरुरी होता है।

कई बार covid ठीक होने के बावजूद भी फिरसे बुखार आने लगता है जिसे post covid inflammatory syndrome कहा जाता है। जिसके वजहसे मरीज को दोबारा एडमिट करने की जरुरत पड़ सकती है।

इसलिए जिन्हे heart की बीमारी है और उन्हें covid हुआ है तो उन्हें अपनी तबियत का ध्यान रखना है। और बिच बिच में oxygen saturation लेवल चेक करते रहना है। कोविड के बाद के रोगियों में हृदय गति अधिक हो सकती है जिसका उचित इलाज किया जाना चाहिए। अगर 30 साल से ऊपर के मरीजों को breathlessness , BP बढ़ना या fast heartbeat या chest pain जैसे कोई भी लक्षण दिखाई दे तो उन्हें अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। और सभी को अपने दिल के स्वास्थ्य का खयाल रखना चाहिए |

About Author

    Appointment Form




    For a quick response to all your queries, do call us.

    Patient Feedback

    Expert Doctors

    Emergency/Ambulance
    +91-88888 22222
    Emergency/Ambulance
    +91-88062 52525
    Call Now

    Generic selectors
    Exact matches only
    Search in title
    Search in content
    page
    post