Home > Videos > Paediatrics > 13 Myths And Facts About Breastfeeding (Hindi)

13 Myths And Facts About Breastfeeding (Hindi)

Myth 1: माँ के एक breast में पानी होता है और एक breast में खाना।

सच: गलत । माँ के दोनों breast में दूध होता है। ये दो प्रकार का होता है foremilk और hindmilk | ये दोनों ही दूध बच्चे के लिए जरुरी है। इसके अलावा शुरुवाती दिनों में आने वाला दूध जिसे colostrum कहते है वो भी बच्चे के लिए अमृत होता है। ये बच्चे को पोशण देता है।

Myth 2: Breast का आकर छोटा है तो दूध कम आएगा क्या?

सच: गलत। स्तन के shape के हिसाब से दूध का निर्माण नहीं होता है। breast में दो tissue होते है adipose tissue और secretive tissue | Adipose tissue fat tissue है, ज्यादा होने पर breast का size बड़ा होता है। और secretive tissue milk बनता है तो उस पर depend करता है की दूध कितना मात्रा में है।

Myth 3: क्या दूध पीने से माँ का दूध बढ़ेगा?

सच: गलत। माँ का दूध तब ही बढ़ता है जब बच्चा बार बार दूध पीकर उसे ख|ली करता है। इसलिए बच्चे को बार बार feed कराये। इसलिए माँ के दूध पीने से दूध नहीं बढ़ता है।

Myth 4: क्या स्तनपान के दौरान विशेष खाना खाना चाहिए?

सच: आप जैसे पहले खाती थी वैसे ही खा सकती है। आपको ज्यादा भूख लगे तो ज्यादा खाये, ज्यादा पानी पियें और बहार का खाना avoid करे। बस आप बीमार न पड़े क्योंकि आप बीमार हुई तो baby को feeding में दिक्क्त हो सकती है।

Myth 5: बच्चे को कम 20 minute तक स्तनपान करे।

सच: गलत। ऐसा कोई fixed time नहीं होता है। suckling time यानी बच्चा कितनी देर दूध पी रहा है वो important है। ये 15 min से 45 min हो सकता है जो बच्चे भूख पर निर्भर करता है।

Myth 6: स्तनपान के दौरान माँ दवाइयां नहीं ले सकती।

सच: गलत। ऐसी बहुत दवाइयां है जो माँ breasfeeding phase में ले सकती है। अगर आप बीमार है तो डॉ से मिलिए और बताइये की आप breasfeeding करती है। डॉ आपको उस हिसाब से दवाई देंगे।

Myth 7: माँ बीमार है तो दूध न पिलाये।

सच: गलत। माँ बीमार है तो जाहिर सी बात है की baby भी expose था जिससे उसे वो बीमारी के antigens तो मिल गए। अब अगर आप दूध नहीं पिलायेंगी तो उसको antibodies नहीं मिलेंगी जिससे वो मजबूत होगा और कोई भी antigens से लड़ेगा। इसलिए बीमार भी है तो जरूर breastfeed करे।

Myth 8: बच्चे को lose motion/ दस्त है तो माँ दूध न पिलाये।

सच: गलत। जब बच्चा बीमार होता है तब वो चिड चिढ़ करता है, कुछ खाता नहीं है और कुछ पचा नहीं पता है। ऐसे में उसको आपके और आपके दूध की सबसे ज्यादा जरुरत होती है। आपका दूध उसे शक्ति देगा, सारा पोशण देगा जिससे वो अच्छा महसूस करेगा।

Myth 9: दूध पिलाने से पहले हर बार breast को clean करना चाहिए।

सच: ये हर बार जरूरी नहीं है। breast में मौजूद areola के glands कुछ secretion करते है जो उस area को clean और moist रखते है। हर बार साफ़ करने से वो area dry होजायेगा और cracks पड़ेंगे। जब आपको लगे की पसीना आ रहा है या smelly हो गया है तो आप साफ़ कर सकती है।

Myth 10: Breastfeeding करने से breast sag करने लग जाते है।

सच: pregnancy के first half में ही, breast grow करते है और 16th हफ्ते तक दूध बन्ना बनना शुरू हो जाता है। अब अगर आप delivery के बाद दूध नहीं भी पिलायेंगी तो भी वो changes तो हो चुके है।

Myth 11: Ceserean delivery के बाद breastfeed नहीं कर सकते है।

सच: ऐसा नहीं है। Delivery कैसे भी हो, आप बच्चे को feed करा सकते हो। Delivery के बाद अगर माँ अगर नहीं उठ पाए तो भी staff और expert baby को place कर देते है आपके पास ताकि आप breastfeed कर पाए।

Myth 12: माँ को अगर काम पर जाना है या office जाना शुरू करना है तो breastfeeding बंद करना होगा।

सच: ऐसा नहीं है। अगर आप बहार जाये या office वापिस जाये तो आप दूध निकाल कर store कर सकती है। आपके family में से ये दूध कोई भी आपके बेबी को feed कर सकता है। Supply maintain करने के लिए आपको दूध express करना जरुरी है। अगर आप office में है तो आप ये दूध store कर if possible |

Myth 13: Formula milk breast milk जैसा ही होता है।

सच: जी नहीं ऐसा नहीं है। सबसे best milk है माँ का दूध और ये living fluid है जिसमे cells होते है, growth factors और homrones होते है। formula milk dead होता है और breastmilk के बराबर नहीं होता।

About Author

dr stock

Dr. Rani Balgude

Infant and Young Child Feeding Specialist
Contact: 8806252525
Email – ask@sahyadrihospitals.com

    Appointment Form




    For a quick response to all your queries, do call us.

    Patient Feedback

    Expert Doctors

    Emergency/Ambulance
    +91-88888 22222
    Emergency/Ambulance
    +91-88062 52525
    Call Now

    Generic selectors
    Exact matches only
    Search in title
    Search in content
    page
    post