Farmacia en línea Farmacia Ortega Martinez on los mejores precios de España. Farmacia del Centro

Home > Videos > Vascular and Endovascular > Understanding Varicose Veins and Treatment

Understanding Varicose Veins and Treatment?

आंकड़ें बताते हैं कि विश्व की जनसंख्या की 30 से 40 प्रतिशत वयस्क जनसंख्या वेरिकोज वेन्स (varicose veins) की बीमारी से परेशान रहती है और यह संख्या प्रतिवर्ष बढ़ रही है। हार्मोनल असंतुलन, गर्भावस्था, परिवार के इतिहास और मोटापे के अलावा, जीवन का तेजी से गतिहीन रूप, काम का दबाव और शारीरिक गतिविधि की कमी इस समस्या को बढ़ावा दे रही है। वेरिकोज वेन्स (varicose veins) को अनदेखा करने से गंभीर जटिलताएं हो सकती हैं। तो जानते है वेरीकोज वेन (Varicose Veins) का इलाज और उसे कैसे रोका जा सकता है |

Varicose veins treatment

इसमें दो प्रकार के उपचार की सुविधाएं है, और varicose के उपचार doppler test पर तय किया जाता है , और फिर यह टेस्ट के अनुसार यह समझ आता है की veins कितने हद तक ख़राब है।

  • अगर यह स्थिति initial stages में पकड़ा गया हो, तोह non surgical तरीके का इस्तेमाल करा जाता है , जिसमे stockings, जो पैर के blood circulation को बढ़ने के लिए मोज़े होते है, (stockings for varicose veins)
  • उनका इस्तेमाल करा जाता है। महीने के आखिर में patient के पैर को evaluate करा जाता है , और तब पैर के नस की स्थिति के हिसाब से operation करा जाये की नहीं यह तय किया जाता है। Surgery तभी कराया जाता है जब पैरों की नस की स्थिति बहुत ही ख़राब हो या फिर तब जब valves पूरी तरह से क्षतिग्रस्त है।

Varicose veins surgery

Varicose veins की surgery को pin hole surgery भी कहा जाता है, और यह बिना कोई टाके से किया जाता है क्युकी यह एक laser type surgery है जिसमे एक छोटी सी सुई को पैर के अंदर डाला जाता है और ख़राब नसों को बंद करा जाता है। यह local और general anesthesia, दोनों के द्वारा करा जा सकता है। यह surgery, day care surgery है यानी की patient सुबह surgery कराता है और दूसरे दिन वह discharge हो सकता है। यह सर्जरी करने के बाद bed rest की ज़रुरत नहीं होती है और वह मामूली तौर से अपना काम काज कर सकता है।

Have queries or concern ?

    Varicose veins prevention

    1. ज्यादा देर खड़े ना रहे और अगर खड़े रहे तोह पैर की exercise हर आधे घंटे में ३ से ४ बार करते रहे।
    2. अगर ज्यादा देर बैठना पड़ा जाए तोह हर आधे घंटे में walking करे।
    3. हफ्ते में एक से दो बार पैर का massage(मालिश) करना चाहिए, जिस से पैर का blood अच्छे से pump होता है।

    About Author

    dr stock

    Dr. Kaurabhi Zade

    Consultant – Interventional Radiologist
    Contact: +91 88888 22222
    Email – [email protected]

      Appointment Form

      For a quick response to all your queries, do call us.

      Patient Feedback

      Expert Doctors

      Emergency/Ambulance
      +91-88888 22222
      Emergency/Ambulance
      +91-88062 52525
      Call Now: 88888 22222